29.1 C
New Delhi
Thursday, August 4, 2022
HomeBusiness1.3 लाख की नौकरी छोड़ खोला फूड स्टॉल, अब हर महीने ये...

1.3 लाख की नौकरी छोड़ खोला फूड स्टॉल, अब हर महीने ये जोड़ी कमा रही है 3 लाख रुपए

आज के जमाने में हर कोई अपनी नौकरी छोड़ बिजनेस करने की चाह रखता हैं। युवाओं के बीच बिजनेस को लेकर काफी क्रेज बढ़ा है। लेकिन किसी भी बिजनेस की शुरुआत छोटे स्तर पर ही शुरु होती है। और एक सही बिजनेस आइडिया आपको आगे सफलता दिलाती है।  मोहित और उनकी पत्नी महक ने इस बात को साबित कर दिया है। 50 हजार से शुरु किए व्यापार से आज वो हर महीने 3 लाक रुपए कमा रहे हैं।

कैसे हुई शुरुआत?

मोहित अरोड़ा और महक दिल्ली में रहते हैं। मोहित पेशे से केमिकल इंजीनियर और महक कॉस्मोलॉजिस्ट थी। उन दोनों के सैलेरी को मिलाकर उन्हे 1 लाख 25 हजार हर महीने मिल जाता था। लेकिन उनके मन मे कुछ बड़ा करने की चाह थी। जिसके वजह से दोनों ने अपनी नौकरी छोड़ दी और बिजनेस करने का फैसला लिया। महक बताती हैं उनके पास बिजनेस को लेकर दो आइडिया था, एक सैलून और दूसरा फूड स्टाल। उन दोनों ने फूड स्टाल का व्यापार शुरु करने का फैसला लिया क्योंकि इसमें पैसे भी कम लगते और नुकसान की भी आशंका कम थी। दोनों ने मिलकर द बॉस कैफे की शुरुआत की।

मोमोज बेचने से की शुरुआत

अपनी बिजनेस की शुरुआत दोनों ने काफी छोटे स्तर पर की थी। अपने फूड स्टॉल पर दोनों शुरुआती दिनों में सिर्फ मोमोज और सोया चाप बेचा करते थे। लेकिन धीरे-धीरे खाने के आइटम को बढ़ाया गया। आज द बॉस कैफे रोहिणी सेक्टर-7 के अयोध्या चौक में काफी मशहूर है। लोग दूर-दूर से उनके स्टाल पर खाने पर आते हैं।

शुरुआत में सुनने पड़े कमेंट्स

महक ने बताया कि उन्होने जब कैफे की शुरुआत की थी तो इस इलाके में कोई भी लड़की ऐसे बिजनेस से हीं जुड़ी हुई थी। जिसके वजह से शुरुआती दौर में उन्हे काफी गंदे कमेंट्स को भी झेलना पड़ा। लेकिन उन्होने इस सब के बावजूद कभी हार नहीं मानी और आज जिस सफलता की सीढ़ी पर वो अपने कदजम बढ़ाते जा रहे हैं।

रेस्टोरेंट शुरू करने का सपना

मोहित ने बताया कि नूडल्स के बीच छोटी कटोरी में जला हुआ कोयला रख, उसपर बटर डालते हैं और कुछ देर के लिए ढककर छोड़ देते हैं जिससे नुडल्स में गजब का तंदूरी फ्लेवर ले आता है। इस महंगाई में हर दिन चीजों का दाम बढ़ रहा है लेकिन यह दोनों कम कीमत पर इसे बेच रहे हैं। इनके स्टॉल पर तंदूरी नूडल्स की एक प्लेट की कीमत 100 रुपये है। यह दोनो मिलकर एक महीने में इस स्टॉल से लगभग तीन लाख रुपये कमा लेते हैं। आगे इन दोनो का सपना खुद का एक रेस्टोरेंट शुरू करने का है।

Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments