33.1 C
New Delhi
Saturday, June 25, 2022
HomeFactएडवेंचर ट्रिप के लिए भानगढ़ जाने से पहले जान लें ये रहस्यमयी...

एडवेंचर ट्रिप के लिए भानगढ़ जाने से पहले जान लें ये रहस्यमयी बातें

भारत एक रहस्यमय देशों में शामिल है। यहां अजीबोगरीब रहस्य छुपे हैं। कुछ जगह ऐसी है कि वह आज भी विज्ञान को चुनौती बनी हुई हैं। यहां ऐसी घटनाएं होती हैं जो इंसान के जेहन में बस जाती हैं।

आज हम आपको भानगढ़ किले के बारे में बताएंगे जो आज भी रहस्यमयी जगह बनी हुई है। अगर आप भी यहाँ जाने की योजना बना रहे हैं तो इन बातों का जरूर ध्यान रखें।

भूतिया किस्सों से इसकी चर्चा

भानगढ़ किला राजस्थान के अलवर जिले की अरावली पर्वतमाला में सरिस्का अभ्यारण्य की सीमा पर स्थित है। इस किले के पास गोला गांव बसा हुआ है। भानगढ़ का किला ढलान वाले इलाके में पहाड़ियों के तल पर स्थित है, जो देखने में बेहद भयानक दिखता है। इस किले की बनावट से ज्यादा इसके भूतिया किस्सों की वजह से ज्यादा चर्चा में रहता है।

डरावने जगहों में भानगढ़ का किला

भानगढ़ को भारत के सबसे डरावनी जगहों में गिना जाता है। ऐसा माना जाता है कि यह किला भूतों से शापित है और यहां पर भूत प्रेत का वास है। भानगढ़ किले को लेकर कई सारे राज आज तक दफन हैं। यह रहस्य अभी तक कोई नही जान पाया है। ऐसे कई लोग हैं जिन्होंने यहां पर भूतों का सामना करने की बात स्वीकार की है और अपनी कहानियां दुनिया से साझा की है।

भानगढ़ के किले का इतिहास

भानगढ़ के इतिहास की बात करें तो इसके पीछे भी एक कहानी है कि राजा माधो सिंह जिन्होंने शहर का निर्माण किया था, उन्होंने वहां रहने वाले एक संत की अनुमति के बाद किले का निर्माण किया था। हालांकि संत इसी शर्त पर सहमत हुए थे कि उनके किले की परछाई संत के घर पर ना पड़े। हालांकि किस्मत को ऐसा मंजूर नहीं था। किले के निर्माण के बाद उसकी छाया संत के घर पर पड़ी जिसके बाद गुस्से में संत ने भानगढ़ को श्राप दिया। तभी से इसे भूतिया किला कहां जाने लगा।

भानगढ़ जाने से पहले रखे इन बातों का ध्यान

भानगढ़ जाने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखना अत्यंत आवश्यक है। यहाँ सरकार के द्वारा सूर्यास्त के बाद किले में जाने पर रोक है। यह कहा जाता है कि रात में जो यहां ठहरता है वो दूसरी सुबह नही देख पाता। पर ऐसा लोगों द्वारा कहा जाता है अभी तक इसकी पुष्टि पूरी तरह नही की गई है। कई जानकारों में इसके रहस्यों को लेकर मतभेद भी है। इसलिए अगर आप भी यहाँ जाए तो ज्यादा देर यहां न ठहरे।

लोगों को होता है कुछ अलग महसूस

जो भी पर्यटक यहां आते है उनके शरीर में कुछ अलग महसूस होता है। कई लोगों ने बेचैनी और स्ट्रेस की शिकायत की है। कई लोगों ने डरावनी हरकतों को भी महसूस किया है। इसलिए पर्यटक यहां कम देर ही रुकना पसंद करते हैं। हालांकि प्रशासन द्वारा यात्रियों के सुरक्षा का अच्छा इंतजाम किया गया है। इसके लिए प्रशासन की ओर से सूचना पट्ट भी लगाए गए हैं।

Shubham Jha
Shubham वर्तमान में पटना विश्वविद्यालय (Patna University) में स्नात्तकोत्तर के छात्र हैं। पढ़ाई के साथ-साथ शुभम अपनी लेखनी के माध्यम से दुनिया में बदलाव लाने की ख्वाहिश रखते हैं। इसके अलावे शुभम कॉलेज के गैर-शैक्षणिक क्रियाकलापों में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments