कोरोना वैक्सीन बनाने वाली इस कंपनी की कहानी आपको हैरत में डाल देगी: पढ़िए लेख

कोरोना वैक्सीन आते ही हमारे देश में पहले सभी सफाई कर्मी और सुरक्षा कर्मियों के साथ अन्य व्यक्तियों को लगाई गई। अब लाखों लोगों को वैक्सीन लग चुकी है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि वैक्सीन को बनाने वाले अदार पुनवाला के पिता कभी घोड़ा बेचा करते थे।

कोरोना वैक्सीन को लेकर सीरम इंस्टीट्यूट के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) चर्चा का विषय बने हुए हैं। उनकी पत्नी का नाम नताशा पूनावाला (Natasha Poonawalla) है और उन्होंने अदार के 40वां जन्मदिन पर भावनात्मक पोस्ट किया और कुछ बातें लिखीं। इस बात की जानकारी सभी को है कि अदार पूनावाला को वैक्सीन प्रिंस कहा जाता है।

100 एकड़ ज़मीन में फैली है उनकी कम्पनी

“सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया कम्पनी” लगभग 100 एकड़ ज़मीन में फैली है और यह भारतीय बायोटेक कम्पनी है। इस कम्पनी में टीटनेस, पोलियो और हेपेटाइटिस जैसे रोगों के इंजेक्शन बनाते हैं। अदार के सफलता के पीछे बहुत बड़ा संघर्ष है, तब वह आज इतनी ऊंचाई पर पहुंचे हैं।

Story of vaccine king Adar Poonawala

पिता बेचते थे घोड़ा

अदार के पिता का नाम साइरस पूनावाला (Cyrus Poonawalla) है और उनका जन्म जमींदार पारसी परिवार में हुआ था। जब उनका बंटवारा हुआ और हिस्से में उन्हें 40 एकड़ भूमि मिली, तब उन्होंने वहां घोड़ा पालन और उनकी ब्रीडिंग का कार्य प्रारंभ किया।

यह भी पढ़े :- लॉकडाउन के दौरान बस कंडक्टर ने बच्चे को बनाया गूगल बॉय

तेज़ दिमाग के बदौलत मिली सफलता

साइरस पूनावाला ने अपने घोड़े को एक सरकारी संस्थान में सप्लाई करना प्रारंभ किया था, जहां घोड़े के सीरम द्वारा टीटनेस का टीका बनाया जाता था। इस बात को उन्होंने अपने दिमाग में बिठाया और फिर यह निश्चय किया कि हमारे द्वारा सप्लाई किये गए घोड़े के सीरम से जब यह वैक्सीन बना सकते हैं, तब हम क्यों नहीं कर सकते? इसके बाद ही उन्होंने वैक्सीन का निर्माण किया।

Story of vaccine king Adar Poonawala

काबिलियत के बदौलत मिला पद्मश्री सम्मान

उन्होंने सीरम इंस्टीट्यूट का निर्माण किया और वैक्सीन का कार्य शुरू किया। मेहनत के बदौलत बहुत जल्द वह सफलता की ऊंचाई पर पहुंच गये और उनकी कम्पनी वैक्सीन निर्माण की सबसे बड़ी कम्पनी बन गई। अमीरों के श्रेणी में साइरस का नाम 6ठें नम्बर पर आता है। उन्हें वर्ष 2005 में पद्मश्री पुरस्कार भी प्राप्त हुआ।

Story of vaccine king Adar Poonawala

अदार मानते हैं अपने पिता को आदर्श

अदार अपने पिता को आदर्श मानकर अपना कार्य करते रहे। उन्होंने लंदन की वेस्टमिंस्टर विश्वविद्यालय से ग्रेजुएशन किया फिर सीरम से जुड़े और वहां के विस्तार में लग गए। उनकी कम्पनी का लाभ 800 मिलियन डॉलर से भी अधिक है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *