35.1 C
New Delhi
Wednesday, May 18, 2022
HomeMotivationलाखों की नौकरी छोड़ की यूपीएससी की तैयारी, दूसरे प्रयास में मिली...

लाखों की नौकरी छोड़ की यूपीएससी की तैयारी, दूसरे प्रयास में मिली सफलता

भारत में यूपीएससी परीक्षा को लेकर काफी क्रेज देखा जाता है। इस परीक्षा को सबसे कठिन माना जाता है लेकिन इसके बावजूद हर साल लाखों बच्चे अपने सालों से कर रहे मेहनत को आजमाने के लिए परीक्षा देते हैं। ऐसा नहीं है कि सभी परीक्षा में सफल होते हैं लेकिन इनमें से जो हार नहीं मानता वो एक दिन अपने लक्ष्य तक पहुंचता है। इस परीक्षा के लिए सभी पूरी लग्न और जज्बे से तैयारी करते हैं। इनमें से कुछ अभ्यर्थी ऐसे भी होते हैं जो अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़कर इस परीक्षा की तैयारी मे जुट जाते हैं। आईएएस ऑफिसर दिव्यांशु उन्ही में से एक हैं। उन्होने अपनी लाखों की नौकरी यूपीएससी क्रैक करने के लिए छोड़ दी। जिसके बाद उन्होने पूरी लग्न से इसकी तैयारी की और दूसरे प्रयास में सपलता हासिल की।

लाखों रुपए की नौकरी छोड़ी

दिव्यांशु ने 10 तक की पढ़ाई अपने शहर जयपुर से पूरी की है। 12 वीं के बाद उन्होने इलेक्ट्रिकल तथा इलेक्ट्रॉनिक्स में बीटेक की डिग्री हासिल की। जिसके बाद उन्होने आईआईएम कोलकाता से एसबीए की डिग्री हासिल की। एमबीए के बाद उन्हे जॉब मिल गई थी जिसकी सैलेरी लाखों में थी, लेकिन दिव्याशु ने यूपीएससी के कारण अपनी नौकरी छोड़ दी और परीक्षा की तैयारी करने लगे।

परीक्षा को लेकर दिए टिप्स

दिव्यांशु ने बताया कि उन्होने ऑप्शनल सब्जेक्ट में मैथ को चुना क्योंकि उन्हे मैथ्स स्कोरिंग लगा। इसके साथ उन्होने यूपीएससी के अभ्यर्थियों को ऑप्शनल सब्जेक्ट सोच-समझकर चुनने की सलाग दी। अपनी परीक्षा की तैयारी के लिए वो 6-7 घटे पढ़ते थे, जिसमें वो 60 फीसदी वक्त ऑप्शनल सब्जेक्ट को देते थे। इसके साथ वो 2 घंटे न्यूजपेपर भी पढ़ा करते थे। दिव्याशु बताते हैं परीक्षा के वक्त वो 8-9 घंटे तक पढ़ाई करते थे।

दूसरे प्रयास में मिली सफलता

दिव्यांशु ने अपनी पूरी मेहनत से परीक्षा की तैयारी की थी। इसके बावजूद पहले प्रयास में वो सफल नहीं सके। लेकिन दिव्यांशु इस बात से निराश नहीं हुए। उन्होने इस बार हुई गलतियों को दूढ़ा और उसपर काम किया। जिसके बाद यूपएससी परीक्षा के दूसरे प्रयास में दिव्यांशु ने सफलता हासिल की और आखिरकार वो आईएएस बन ही गए।

Medha Pragati
मेधा बिहार की रहने वाली हैं। वो अपनी लेखनी के दम पर समाज में सकारात्मकता का माहौल बनाना चाहती हैं। उनके द्वारा लिखे गए पोस्ट हमारे अंदर नई ऊर्जा का संचार करती है।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments