24.1 C
New Delhi
Monday, November 29, 2021
HomeEnvironmentकहानी 23 साल की गुरलीन चावला की जिन्होंने बंजर जमीन में उगा...

कहानी 23 साल की गुरलीन चावला की जिन्होंने बंजर जमीन में उगा दिए स्ट्रॉबेरी, पीएम मोदी ने सराहा

“ज़िन्दगी जीना आसान नहीं होता,
बिना संघर्ष के कोई महान नहीं होता,
जब तक ना पड़े हथोड़े की चोट,
पत्थर भी भगवान नहीं होता”।

यह पंक्तियां 23 साल की गुरलीन चावला पर सटीक बैठती है। गुरलीन लॉ की छात्रा है लेकिन उन्होंने पढ़ाई के साथ-साथ स्‍ट्रॉबेरी की खेती कर सभी के लिए एक मिसाल बन गई हैं। गुरलीन के कार्य की सराहना खुद प्रधानमंत्री ने भी की है। आइए जानते हैं गुरलीन चावला के बारे में।

गुरलीन चावला का परिचय

गुरलीन चावला उत्तर प्रदेश के झांसी की रहने वाली है। 23 वर्षीय गुरलीन झांसी में लॉ की छात्रा है। गुरलीन जहां रहती है वहां अत्याधिक गर्मी पढ़ती है लेकिन इसके बाद भी गुरलीन ने स्‍ट्रॉबेरी की खेती कर सभी को चौंका दिया है। गुरलीन ने पहले अपने घर पर और फिर अपने खेत में स्‍ट्रॉबेरी की खेती का सफल प्रयोग कर यह विश्वास जगा दिया है कि झांसी में भी इसकी खेती हो सकती है। उनके इस कार्य से लोगों के लिए वह प्रेरणा बन गई हैं।

गुरलीन ने अपने घर से की शुरुआत

कोरोना के समय में लॉकडाउन की वजह से गुरलीन को अपने कॉलेज से अपने घर आना पड़ा। शुरुआत में गुरलीन ने अपने घर के गमलों में स्ट्राबेरी के कुछ पौधे लगाए। इसके अच्छे नतीजे आने पर उन्होंने पिता के फार्म हाउस पर लगभग डेढ़ एकड़ भूमि पर स्ट्राबेरी की खेती शुरू कर दी। उनके इस कार्य को देखकर उनके घर वाले भी आश्चर्यचकित हो गए।

अन्य किसान भी हुए प्रेरित

गुरलीन को स्‍ट्रॉबेरी खेती करते देख अन्य किसान भी उनसे प्रेरित हैं। जिसके बाद सरकार भी स्ट्रॉबेरी फेस्टिवल के जरिए किसानों को स्ट्रॉबेरी उगाने के लिए प्रोत्साहित कर रही है। झांसी में पहली बार स्‍ट्रॉबेरी महोत्‍सव का आयोजन किया गया। यह आयोजन 17 जनवरी से शुरू हुआ था। इस आयोजन में उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने भी गुरलीन के इस कार्यों की प्रशंसा की थी। उन्होंने कहा कि झांसी में हुआ स्ट्रॉबेरी का उत्पादन और यहां हो रहा स्ट्रॉबेरी महोत्सव चमत्कार से कम नहीं है। मुख्यमंत्री जी से मिले इस प्रशंसा से गुरलीन को आगे बढ़ने का हौसला मिला है।

मन की बात में गुरलीन का जिक्र

पीएम मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में झांसी स्ट्रॉबेरी महोस्तव का जिक्र कर चुके हैं। बल्कि गुरलीन चावला के प्रयासों की भी खूब प्रशंसा की थी। पीएम मोदी मन की बात में गुरलीन की भूमिका को खूब सराहा था। उन्होंने देशवासियों को गुरलीन की खेती के बारे में भी बताया था।

गुरलीन चावला आज खेती करके लाखों लोगों के लिए मिसाल बन गई हैं। इस बेटी की जितनी तारीफ की जाए कम है।

Sunidhi Kashyap
सुनिधि वर्तमान में St Xavier's College से बीसीए कर रहीं हैं। पढ़ाई के साथ-साथ सुनिधि अपने खूबसूरत कलम से दुनिया में बदलाव लाने की हसरत भी रखती हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments