लड़के वालों ने लौटाए दहेज में मिले पैसे, कहा- हमें सिर्फ बेटी चाहिए

दहेज को कुप्रथा कहते बहुत बार सुना है लेकिन जब भी समाज में इसके लिये आवाज़ उठाने और दहेज ना लेने की बात होती है, तब सभी अपने पैर पीछे खींच लेते हैं। दहेज हमारे समाज में इस कदर व्याप्त है कि दहेज की मांग पूरी नहीं होने पर अभी भी लड़कियों को जिंदा जलाया जा रहा है और उन्हें प्रताड़ित किया जा रहा है।

वहीं हमारे समाज में कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो दहेज जैसी कुप्रथा को मिटाने और लोगों को जागरुक करने के लिये नये-नये कदम उठा रहे हैं।

आज के समय भी दहेज की मांगे जहां बढ़ती नज़र आ रही हैं, वहीं राजस्थान के एक शख्स ने दहेज में मिले 11 लाख रुपये लड़की वालों को वापस कर दिया है। साथ ही दहेज मांगने वालों के मुँह पर करारा तमाचा भी मारा है।

रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान के बूंदी ज़िले के रिटायर्ड प्रिन्सिपल बृजमोहन मीणा के बेटे की शादी टोंक ज़िले में हो रही थी। सगाई के दौरान लड़की के पिता ने नोटों की गड्डी से भरी एक थाली, जिसमें 11 लाख 102 रुपये थे, उनके सामने रख दिया। लड़की के पिता द्वारा ऐसा करने पर बृजमोहन मीणा ने शगुन के तौर पर नोटों से भरी थाली में से 101 रुपये उठा लिया और कहा कि उन्हें यह रुपये नहीं चाहिए।

Returning of dowry at the time of marriage incident from Rajasthan

उनकी यह बात सुनकर वहां सभी लोग हैरान-परेशान हो गये और हंगामे की स्थिति बन गई। तब इसपर उन्होंने कहा कि उन्हें सिर्फ बेटी चाहिए। वहीं दूसरी तरफ दुल्हन का कहना है कि उन्हें अपने ससुर द्वारा लिये गये फैसले पर बहुत गर्व है, यह दुनिया के लिये प्रेरणा है।

आपको बता दें कि दुल्हन साइंस विषय से स्नातक है और बीएड कर रही है। दुल्हन के घर वालों का कहना है कि उनके लिये यह प्रेरणादायक है, इससे पूरे समाज में सही संदेश जायेगा।

बृजमोहन मीणा ने जिस तरह दहेज प्रथा के खिलाफ निर्णय लिया वह वाकई बहुत प्रशंसनीय है। यदि समाज में उनके जैसे ही लोग हो जाये तो हम कह सकते हैं कि हमारे समाज से दहेज जैसी कुप्रथा का बहुत जल्द ही खात्मा हो जायेगा। इसके साथ ही हम आशा कर सकते हैं कि समाज में दहेज को लेकर बनी छवि में भी सुधार होगा।

News Desk

One thought on “लड़के वालों ने लौटाए दहेज में मिले पैसे, कहा- हमें सिर्फ बेटी चाहिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *