तीन बार सेना से निकाले जाने पर भी नहीं मानी हार, अब IPS अधिकारी बन कर रहे देश सेवा

IAS और IPS बनने के इच्छुक छात्रों के लिये दिल्ली सरकार ने एक कार्यक्रम की शुरुआत की है, जिसमें दिल्ली के शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के साथ एक IAS और IPS अधिकारी भाग लेते हैं। साथ ही छात्रों के सभी सवालों का उत्तर देते हैं। कुछ ही दिनों पहले इस कार्यक्रम का दूसरा सत्र आयोजित किया गया था, जिसमें दिल्ली सरकार के शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश और दक्षिण-पश्चिम ज़िला के डीसीपी इंगित प्रताप सिंह ने छात्रों के साथ अपनी यूपीएससी के सफर का अनुभव साझा किया।

इंगित प्रताप सिंह (Ingit Pratap Singh) की कहानी

इंगित प्रताप सिंह 2011 बैच के IPS अधिकारी हैं। वह अपने साथ जुड़ी एक घटना का ज़िक्र करते हुए कहते हैं कि उन्होंने स्वास्थ्य सम्बन्धी कारणों से 3 बार सेना (Army) से निकाले जाने के बाद भी हार नहीं मानी और लगातार कठिन मेहनत द्वारा अपने मंज़िल को हासिल कर लिया।

Removed from amry three times now working as an IPS officer

पहल को दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने शुरु किया

अधिक जानकारी के लिये बता दें कि इस पहल को दिल्ली सरकार ने शुरु किया है। यूपीएससी की तैयारी करने वाले छात्रों के साथ IAS और IPS अधिकारी प्रत्येक माह संवाद करते हैं तथा पढ़ाई और तैयारी से जुड़े अनुभव भी साझा करते हैं।

सफलता के मूलमंत्र

इस कार्यक्रम में इंगित प्रताप सिंह ने लगन, कड़ी मेहनत, दृढ़ निश्चय, एकाग्रता और अनुशासन को सफलता का मूलमंत्र बताया। इसके साथ ही उन्होंने कई महत्वपूर्ण जानकारियां भी दीं।यूपीएससी की तैयारी केवल ट्रेवल है। असली कार्य तो सर्विस में आने के बाद आरंभ होता है।

Removed from amry three times now working as an IPS officer
SOURCE NEWS18 HINDI

एक दरवाज़ा बंद है तब दूसरे पर दस्तक दें

उन्होंने आगे बताया कि जब आप हर बार असफल होते हैं, तब आपको लगातार कार्य करते रहना होगा। आप हार नहीं मान सकते। यदि एक दरवाज़ा बंद है, तब दूसरे दरवाज़े पर दस्तक दें। तैयारी के लिये विषय का सिर्फ सतही ज्ञान नहीं होना चाहिए बल्कि यूपीएससी की परीक्षा में सफल होने के लिये गहन ज्ञान होना बेहद आवश्यक है। छात्रों को उन्हीं विषय का चयन करना चाहिए जिनमें उनकी रुचि हो।

Removed from amry three times now working as an IPS officer

शिक्षा निदेशक ने कही यह बात

इस कार्यक्रम के दौरान शिक्षा निदेशक उदित प्रकाश राय (Udit Prakash Rai) ने कहा कि इस कार्यक्रम के माध्यम से दिल्ली सरकार का प्रयास है कि यूपीएससी की तैयारी के मिथ्यों को दूर कर बच्चों के मन में आत्मविश्वास जगाना है। उन्होंने कहा कि इंगित प्रताप सिंह की मां दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में शिक्षिका हैं। आपके और हमारे में कोई अंतर नहीं है। एक समय हम भी आपकी जगह ही थे। कड़ी मेहनत से लगन से आप सब भी अपने लक्ष्य को हासिल करने में सक्षम होंगे और दूसरे के लिये प्रेरणा बनेंगे।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *