21.1 C
New Delhi
Monday, November 29, 2021
HomeCricketदिल्ली फ्रेंचाइजी के मालिक ने आईसीसी और बीसीसीआई से सख्त बायो-बबल में...

दिल्ली फ्रेंचाइजी के मालिक ने आईसीसी और बीसीसीआई से सख्त बायो-बबल में नरमी बरतने का अनुरोध किया

कोरोना काल में सुरक्षा को ध्यान में रखकर हर खेल के लिए कुछ नियम बनाए गए हैं। क्रिकेट के लिए भी एक नियम पिछले साल 2020 में बनाया गया। जिसको बायो-बबल रूल्स का नाम दिया गया। खबर आई है कि दिल्ली कैपिटल्स के मालिक ने BCCI और ICC से बायो-बबल में नरमी बरतने को लेकर गुहार लगाई है।

दिल्ली के मालिक ने लगाई गुहार

दिल्ली फ्रेंचाइजी के मालिक पार्थ जिंदल ने आईसीसी और बीसीसीआई से सख्त बायो-बबल में नरमी बरतने का अनुरोध किया है। पार्थ जिंदल ने ट्विटर पर एक ट्वीट के जरिए कहा “मैं BCCI और ICC से इन कड़े बुलबुले को दूर करने का आग्रह करना चाहूंगा यह खिलाड़ियों की मानसिक भलाई पर असर डाल रहा है जो हम सभी के लिए क्रिकेट-प्रेमी लोगों के लिए सबसे ज्यादा मायने रखता है”

खिलाड़ियों के लिए कठिन बायो-बबल

जिंदल का दूसरा ट्वीट यह है कि ‘हालांकि मैं वायरस की गंभीरता को समझता हूं, यह स्पष्ट है कि हम सभी को वायरस के आसपास रहना सीखना होगा खिलाड़ियों के लिए इतनी लंबी अवधि के लिए होटलों में रहना बहुत कठिन है” गौरतलब है कि कई खिलाड़ियों ने भी बायो-बबल के कड़े नियम के कारण बीच में ही आईपीएल छोड़ने का फैसला कर लिया था।

आईपीएल को करना पड़ा था स्थगित

आईपीएल 2021 के लिए बनाए गए बायो बबल में कोविड 19 की एंट्री के बाद बीसीसीआई ने टूर्नामेंट को अनिश्चितकाल के लिए स्थगित कर दिया था। भारत में कोरोना के दूसरी लहर के बीच ये टूर्नामेंट चल रहा था। आईपीएल 2021 के 29 मैचों के बाद बायो बबल में कोरोना की एंट्री हुई थी। इसके बाद हर तरफ ये चर्चा छिड़ी हुई थी कि आखिर बायो बबल में कोरोना वायरस कैसे पहुंचा और उसके बाद इस बबल को और कठिन कर दिया गया था।

वहीं इस बायो-बबल को कई भारतीय और विदेशी खिलाड़ी सुरक्षित मानते आए हैं। अब दिल्ली के मालिक पार्थ जिंदल के इस ट्वीट पर आईसीसी और बीसीसीआई की क्या प्रतिक्रिया आती है यह देखने वाली बात होगी।

Shubham Jha
Shubham वर्तमान में पटना विश्वविद्यालय (Patna University) में स्नात्तकोत्तर के छात्र हैं। पढ़ाई के साथ-साथ शुभम अपनी लेखनी के माध्यम से दुनिया में बदलाव लाने की ख्वाहिश रखते हैं। इसके अलावे शुभम कॉलेज के गैर-शैक्षणिक क्रियाकलापों में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments