बाज़ार में आया गाय के गोबर से बना पेंट, महज 12 दिन में हुई बंपर बिक्री: जानिए फायदे

सरकार गरीबों की मदद करने के लिए नई-नई योजनाएं बना रही है, जिससे वह अपनी आमदनी को बढ़ा सके। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) द्वारा दिया गया संदेश लोकल फॉर वोकल के तहत शुरू किए गए गोबर से बने पेंट (Cow Dung Paint) को देशभर के लोग बहुत पसंद कर रहे हैं। इस पेंट के जरिए लोग अपने घरों को एक नई पहचान दे रहे हैं।

12 दिन में हुई साढ़े तीन हज़ार लीटर पेंट की बिक्री

खादी ग्रामोद्योग (Khadi Gramodhyog) के साथ मिलकर जयपुर (Jaipur) के एक इंस्‍टीट्यूट में इस पेंट को तैयार किया गया है। यह पेंट बाज़ार में बहुत तेज़ी से बिक रहा है। खादी ग्रामोद्योग आयोग के वरिष्‍ठ अधिकारी बताते हैं कि इसकी सेल काफी बेहतर है। आपको सुन आचार्य होगा कि महज 12 दिन के अंदर गोबर से बना साढ़े तीन हज़ार लीटर पेंट इतना जल्दी बिक चुका है।

Paint made from cow's dung

पेंट की हो रही ऑनलाइन बिक्री

इस पेंट की बिक्री सिर्फ़ जयपुर और दिल्ली में हुई है। अब खादी ग्रामोद्योग ने इस पेंट की ऑनलाइन बिक्री (Online Sale) भी शुरू कर दिया है। अब देशभर में कहीं से भी लोग इसे ऑर्डर कर सकते हैं। इसके टेस्टिंग के समय ही
यह पेंट तीन हज़ार लीटर तक बिक चुका था।

यह भी पढ़े :- कूड़ा बन गया था जगह, BMC ने 4000 पौधे लगाकर पार्क जैसा खूबसूरत बना दिया: सराहनीय पहल

वॉलेटाइल ऑर्गनिक कंपाउंड के अंदर पेंट बनता है

किसी भी पेंट में एक वॉलेटाइल ऑर्गनिक कंपाउंड (VOC) होता हैं। इसमें कुछ हानिकारक तत्व होते हैं, जो पेंटिंग के दौरान भाप बनकर बाहर निकलते हैं। इससे पेंट करने वाले की आंखों में जलन होने लगती है, मगर टेस्टिंग तथा फाइनल रिपोर्ट में पाया गया कि गोबर से बने इस पेंट में वीओसी की मात्रा ना के बराबर है, जिससे यह किसी भी तरह से हानि नहीं पहुंचाता।

Paint made from cow's dung

इस पेंट को ईकोफ्रेंडली प्रोडक्‍ट माना जा रहा है

जिन लोगों ने इस पेंट का इस्तेमाल कर लिया है, वह फीडबैक में यह बताते हैं कि यह एक ईकोफ्रेंडली प्रोडक्‍ट (Ecofriendly product) है। जिस वजह से लोग इसे बहुत ज्‍यादा पसंद कर रहे हैं। ग्रामोद्योग की ओर से बताया गया कि इसे गाय से मिलने वाले रोज़गार के लिए शुरू किया गया है तथा यह लोगों को भी बहुत पसंद आ रहा है।

इस पेंट के बहुत से लाभ हैं

इस पेंट को 12 जनवरी को एमएसएमई (MSME) देख रहे केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) ने लांच किया था। नितिन ने इसका इस्‍तेमाल अपने आवास की दीवारों पर किया था। इसके अलवा खादी ग्रामोद्योग की बहुत सी बिल्डिंगों को इससे पेंट किया गया है। यह पेंट गौशालाओं में बनता है। इससे महीने का 4500 रुपये करीब गोबर से मिलने का अनुमान है। गाय के गोबर से बने पेंट के बहुत से फायदे हैं, जैसे- यह एंटी बैक्टीरियल है, एंटी फंगस है। इसके अलवा यह सस्ता भी है और इसमें भारी धातुएं भी नहीं हैं।

गोबर से बने पेंट के बहुत से लाभ हैं तथा इससे गरीबों को लाभ हो रहा है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *