हावर्ड में नियुक्ति के किये NDTV की नौकरी छोड़ी, फिर फर्जीवाड़े की जाल में इस तरह फंस गई पत्रकार

अक्सर लोग फर्जीवाड़े का शिकार हो जातें हैं। चाहे यह ऑनलाइन कार्य हो या ऑफलाइन। NDTV की वरिष्ठ पत्रकार निधि राजदान के साथ भी इंटरनेट के द्वारा फर्जीवाड़ा हुआ और वह भी इंटरनेट फर्जीवाड़े का शिकार हो चुकीं हैं।

निधि राजदान (Nidhi Razdan) बहुत ही लंबे अवधि से NDTV की एक काबिल पत्रकार रह चुकीं हैं। इन्होंने अपने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर किया और जिसके जरिए यह बताया कि इनके साथ इंटरनेट के माध्यम से धोखाधड़ी हुआ है। अपने ट्वीट के जरिए इन्होंने यह जानकारी दी कि इन्हें हार्वर्ड यूनिवर्सिटी में पढ़ाने का ऑफर मिला था लेकिन कुछ समय बाद वह समझ गई कि उनके साथ जो हो रहा है, वह फिशिंग अटैक है।

Nidhi Razdan

निधि ने बीते वर्ष अपनी यह नौकरी छोड़ते हुए यह बताया था कि उन्हें हार्वर्ड यूनिवर्सिटी पत्रकारिता विभाग से यह ऑफर दिया गया कि मैं वहां पढ़ाऊं। जब यह बात सामने आई है कि यह सब एक धोखाधड़ी है, उन्होंने इसके खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई। निधि को ऐसा लगता है कि उनके साथ धोखाधड़ी कर उनके सारे पर्सनल डिटेल प्राप्त करने की कोशिश की जा रही थी।

यह भी पढ़ें :- धरना पर बैठे किसानों को कुछ नही पता वह बहकावे में हैं-हेमा मालिनी का बयान

निधि ने अपने ट्वीटर पर लिखित पोस्ट में लिखा है, “21 साल की नौकरी के बाद वर्ष 2020 के जून महीने में इस नौकरी को छोड़ आगे बढ़ने का निश्चय किया। मैं हार्वड यूनिवर्सिटी के पत्रकारिता विभाग में एसोसिएट प्रोफेसर के पद के साथ इस नौकरी को ज्वॉइन कर रहीं हूं।”

Nidhi Razdan from NDTV


 
इन्होंने यह भी लिखा कि मुझे यह भरोसा दिया गया था कि सितंबर से मैं अपना काम शुरू करूंगी। मैंने इसकी तैयारी भी शुरू कर दी थी लेकिन आगे मुझसे यह बताया गया कि कोरोना के महामारी से अभी दिक्कत है और मुझे जनवरी से अपना काम शुरू करने को मिलेगा। जब अपॉइंटमेंट में वक़्त लगने लगा तब मुझे यह रियलाइज हुआ कि ये लोग जो प्रकिया बता रहें हैं, वह गलत है। सारी जांच पड़ताल करने के बाद मैं अच्छी तरह समझ गई कि मेरे साथ इंटरनेट फिसिंग हुआ है।

फिलहाल इन्होंने पुलिस को वे सारे मेल सबूत के तौर पर दे दियें हैं। इन्होंने एक और ट्विट किया जिसमें अब तक के अपने सफ़र के लिए सोशल साइट पर अपने समर्थकों को धन्यवाद किया और बोला कि थोड़े वक़्त के लिए सोशल साइट्स से दूर जा रही हूं, फिर बहुत जल्द लौटूंगी।

Nidhi Razdan from NDTV

निधि राजदान (Nidhi Razdan) के साथ जो हुआ, वह गलत था लेकिन इन्होंने अपनी चतुराई से जल्द ही यह पता लगा लिया कि जो हो रहा है वह सही नहीं बल्कि फिशिंग अटैक है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *