IIT कानपुर ने बनाया 4 किलो का हेलीकॉप्टर, जवानों के लिए होगा मददगार

अक्सर हमारे देश के प्रद्योगिकी संस्थान में नई तकनीकों के साथ अविष्कार होते रहते हैं। इस बार भी हमारे देश के एक प्रद्योगिकी संस्थान IIT कानपुर ने एक ऐसा हेलीकॉप्टर बनाया है, जिसमें बहुत ही खास बात है। हमारी इस प्रस्तुति द्वारा आप इसे बहुत अच्छी तरह समझ लेंगे की आखिर इस हेलीकॉप्टर में क्या-क्या खूबियां हैं?

IIT कानपुर का अविष्कार

IIT कानपुर (IIT Kanpur) ने एक ऐसा हेलीकॉप्टर (Helicopter) बनाया है, जिसका वजन मात्र 4 किलोग्राम है। इसका निर्माण हमारे इंडियन आर्मी को ध्यान में रखकर किया गया है, जो हमारे जवानों के लिए बहुत ही मददगार सिद्ध होगा। यह हेलीकॉप्टर हमारे जवानों की मदद कठिन वक़्त में मेडिकल किट और बचाव के लिए करेगा। इसका निर्माण हमारे IIT के एयरोस्पेस इंजीनियरिंग विभाग (Aerospace engineering department) के सीनियर साइंटिस्ट प्रोफेसर अभिषेक के देखरेख में हुआ है।

IIT Kanpur invents helicopter

एयरो इंडिया 2021 में लगा हिस्सा

आईआईटी कानपुर द्वारा यह निर्मित हेलीकॉप्टर बंगलोर में आयोजित होने वाले एशिया के सबसे बड़े कार्यक्रम एयरो इंडिया 2021 के इंड्योरएयर का मनमोहन केंद्र बनेगा। IIT कानपुर के ट्विटर अकाउंट द्वारा यह जानकारी मिली कि यह कम वजन वाला हेलीकॉप्टर एयरो इंडिया 2021 का हिस्सा बनेगा।

IIT Kanpur invents helicopter

वीडियो डाटा आसानी से भेजने में है सहायक

इस हेलीकॉप्टर में स्पेशल कैमरा लगा हुआ है, जो सेंसर से इंक्लूड है। इस सेंसर की मदद से लगभग 15 किलोमीटर दूर के डाटा को बहुत ही आसानी से भेज सकता है। साथ ही इसमें क्लाउड मोनिटरिंग के लिए सेंसर लगे हैं। इस हेलीकॉप्टर में ना ही टेकऑफ़ की व्यवस्था है और ना ही लैंडिंग की, बल्कि यह किसी भी जगह से वर्टिकल लैंडिंग और टेकऑफ़ द्वारा उड़ सकता है। इतना ही नहीं यह -20 से -30 डिग्री सेल्सियस तापमान में कार्य करेगा। खासतौर पर यह अरुणाचल और लेह लद्दाख में उपयोगी सिद्ध होगा।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *