हमारी पुरानी सवारी साइकिल का इतिहास बहुत ही रोचक है: यहां तस्वीरें देखें

बीते जमाने में लोग यात्रा करने के लिए साइकिल का इस्तेमाल करते थे जो हर इंसान के पास मौजूद नहीं रहती थी। यदि किसी के यहां साइकिल आ जाए तो देखने के लिए लोगों की भीड़ उमड़ जाती थी लेकिन बदलते समय के साथ यात्रा करने के लिए अनेकों नए-नए वाहनों का निर्माण हुआ। हालांकि आज भी कई लोग सौक़ से और अपनी अच्छी सेहत के साइकिल की भी यात्रा करते है। आइए जानते है क्या है कैसे हुआ साइकिल का निर्माण –

History of cycle

सर्व प्रथम 19वीं सदी के प्रारंभ में साइकिल का निर्माण हुआ, उस समय लोगों के पास आवागमन के लिए पैदल के अलावा घोड़ा गाड़ी ही एक मात्र साधन था। सुविधाओं की कमी के कारण लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता था, इन परेशानियों को ध्यान में रखते हुए जर्मनी के एक शख़्स (Baron Karl Vonv Daris) ने लकड़ी का इस्तेमाल कर साइकिल का पहला प्रारूप तैयार किया जिसमें दो पहिए लगे थे। यह साइकिल आधुनिक साइकिल जैसे नहीं थी इसे चलाने के लिए पैर से धक्का देना पड़ता था, जिसे Laufmaschine कहा जाता था।

History of cycle

उसके बाद साइकिल के इसी मॉडल को इंग्लैंड में एक नया रूप मिला, जिसे Dandy Horse कहा गया। इस साइकिल का इस्तेमाल लगभग 40 वर्षों तक हुआ।

History of cycle

आगे 1846 में फ्रांस के दो भाई Pierre Michaux और Lallemen ने इस साइकिल में पैडल और आदमी के बैठने के लिए सीट बनाया, जिससे लोगों को काफी सहूलियत मिली और यह साइकिल सभी को खूब पसंद भी आई। अगले 4 सालों तक वे दोनों भाई इसे और विकसित करने के लिए संघर्ष किए और सफल भी हुए। एक और नई साइकिल लोगों के सामने पेश किए जिसका नाम रखा Boneshaker.

History of cycle

फिर 1886 में Eugene Mayer ने इस साइकिल को और विकसित किया, जिसमें हल्के फ्रेम और आगे की तरफ बड़े-बड़े पहिए लगे थे जिससे यह और तेज गति से चलती थी।

History of cycle

आगे कुछ वर्षों बाद John Kemp Stlery ने Safety Bicycle नाम की एक साइकिल बनाई जिसमें पैडल पिछले टायर से जुड़े थे और उसके हैंडल को अपनी जरूरत के मुताबिक मोड़ा जा सकता था। फिर 20वीं सदी की शुरुआत में एक रोवर नाम की साइकिल बनाई जो लोगों को खूब पसंद आई। 1900 से 1995 के दशक को साइकिल का गोल्डन ऐरा कहा जाता है, क्योंकि उस समय लोगों के पास आवागमन का प्रमुख साधन साइकिल ही था।

एक समय था जब सभी लोग साइकिल से ही यात्रा करते थे लेकिन आज के आधुनिक युग में अनेकों नए वाहनों के साथ कंप्यूटर से भी चलने वाली साइकिलें मार्केट में उपलब्ध है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *