कृषि आंदोलन को लेकर गरमा-गरमी में हरियाणा के इन 60 गांवों ने BJP नेता के एंट्री पर बैन लगाया है

कृषि कानून को लेकर लंबे समय से विरोध प्रदर्शन जारी है। इस प्रदर्शन पर कई राजनीतिक दलों ने अपना-अपना पक्ष भी रखा है। कुछ पार्टियां किसानों का समर्थन कर रहीं हैं तो कुछ विरोध में हैं। इसी बीच यह जानकारी मिली कि अब हरियाणा (Hariyana) के 60 से ज्यादा गांवों में BJP एवं JJP के नेताओं के प्रवेश करने पर बैन लगा है।

हरियाणा में भारतीय जनता पार्टी (BJP) और गठबंधन सहयोगी जननायक जनता पार्टी (JJP) के नेताओं को कई दिनों से किसानों के विरोध का सामना करना पड़ रहा है। किसानों के प्रदर्शन को लेकर हरियाणा के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला और JJP नेता ने यह निश्चय किया कि वे प्रधानमंत्री जी से मिलकर इस विषय पर विचार-विमर्श कर सकें।

Haryana village prohibits entry

आगे उनलोगों ने प्रधानमंत्री जी ने मिलने के लिए कार्यक्रम बनाया। वहां JJP नेताओं को बहुत सारी दिक़्क़तों का सामना करना पड़ रहा है। उनके ऊपर दबाव बनाया जा रहा है। वैसे हरियाणा के मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री की तरफ से आश्वासन मिला था कि BJP और JJP को कोई दिक्कत नहीं है।

10 जनवरी के दिन मुख्यमंत्री के आने के पूर्व “किसान महापंचायत” में जहां सैकड़ो की तादाद में किसान मौजूद थे, वहां हिंसा हुआ। इस कारण इस कार्यक्रम को रद्द किया गया। वहां पर किसानों ने जमकर तोड़-फोड़ की और सभी चीज़ों को नष्ट कर दिया। साथ ही उनलोगों ने कैमला गांव के हेलीपैड को कला झंडा लेकर नष्ट किया गया।

अब हम सभी को उस वक़्त का इंतजार है जब किसान इस प्रदर्शन को रोक अपने घर पर अपना वक़्त गुजारेंगे। The Logically को यह उम्मीद है कि जल्द ही इस मसले का हल निकलेगा।

News Desk

One thought on “कृषि आंदोलन को लेकर गरमा-गरमी में हरियाणा के इन 60 गांवों ने BJP नेता के एंट्री पर बैन लगाया है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *