घर से इनडोर प्लांट्स के जरिए ऐसे कमा सकते हैं डबल मुनाफा

कोरोना महामारी में अनेक लोग अपनी नौकरी गंवा बैठें। हालत इतनी बुरी थी कि उनके लिए दो वक्त की रोटी जुटाना भी मुश्किल हो गया। यहां तक की लोग पेट भरने के लिए भीख मांगने तक पर मजबूर हो गए। ऐसे लोगों के लिए घर में बैठे इनडोर प्लांट्स (Indoor Plants) का बिजनेस एक अच्छा विकल्प है। अगर आप कोई काम करते हैं, तब भी थाेड़ा समय निकालकर इनडोर प्लांट्स का बिजनेस कर सकते हैं। इनडोर प्लांट्स के बिजनेस में रोज़ मात्र तीन-चार घंटे की मेहनत से आप अच्छा पैसा कमा सकते हैं। साथ ही निवेश की तुलना में मुनाफा भी डबल हो जाएगा।

चेतना पाटिल (Chetna Patil) की कहानी

चेतना पाटिल, हाेम क्रिऐटिविटी डेकाेरेशन के नाम से इनडोर प्लांट्स का बिजनेस कर रही हैं। वह अपने जिम के साथ साइड वर्क के ताैर पर इस बिजनेस को शुरू किया था। चेतना ने इस बिजनेस की शुरूआत सिर्फ़ एक हज़ार रुपए की लागत से किया था। चेतना बताती हैं कि इस काम में आप दिन के चार से पांच घंटे देकर भी अच्छी कमाई कर सकते हैं। चेतना अब प्लांट विथ कंटेनर (Plants With Containers) सेल करती हैं। कंटेनर पर आने वाले खर्च बताते हुए चेतना कहती हैं कि प्लास्टिक के कंटेनर जहां 20 रुपये तक मिल जाते हैं, ताे वहीं सिरेमिक के 50 रुपये तक मिलते हैं।

Earn profit from home through indoor plants

इनडोर प्लांट का काम कोई भी कर सकता है

चेतना बताती हैं कि जितना खर्च कंटेनर में लगता है, करीब इतनी ही लागत प्लांट मिट्टी और उसे तैयार करने में भी लगती है। चेतना कंटेनर काे थाेड़ा डेकाेरेट भी करती हैं, जिससे वह और ज़्यादा आकर्षक लगता है। चेतना के अनुसार एक इनडोर प्लांट काे तैयार करने में कुल 100 रुपये तक खर्च होते हैं, तो वहीं मार्केट में वही सामान दुगुनी से भी ज़्यादा कीमत पर आसानी से बिक जाता है। एक हाउसवाइफ भी चाहे तो थाेड़ा समय निकालकर घर बैठे यह बिजनेस कर सकती हैं और इसके जरिए अच्छा मुनाफा भी कमा सकती हैं।

Earn profit from home through indoor plants

इनडोर प्लांट को सेल करना है बहुत आसान

चेतना बताती हैं कि इनडोर प्लांट्स में प्लामट्री, स्पाइडर, ड्रैगन, जेड प्लांट, स्नेक प्लांट, मनी प्लांट, फैरना प्लांट ज़्यादा चलन में है। इसका प्रयोग आपको घर में करके देखना चाहिए कि उसकी ग्राेथ हाे रही हैं या नहीं या फिर वह खराब ताे नहीं हाे रही। अगर आप इसे ठीक तरीके से लगा लेते हैं तो फिर आप इसकी सेल शुरू कर सकते हैं। चेतना कहती हैं कि इसे सेल करने में ज़्यादा दिक्कत नहीं होती क्योंकि इसकी ज़्यादा देखरेख नहीं करना पड़ती। शुरूआत में आपकाे थाेड़ी मेहनत करके लाेगाें काे बताना हाेगा कि आपने यह काम शुरू किया है उसके बाद लोग खुद ब खुद आपसे जुड़ने लगेंगे और फिर आपका काम आसान हो जाएगा।

चेतना पाटिल द्वारा किया गया इनडोर प्लांट का कार्य प्रशंसा योग्य है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *