DRDO ने बनाया स्वदेशी मिसाइल सुरक्षा कवच, देश के दुश्मनों की अब खैर नहीं

देश की रक्षा से जुड़े अनुसंधान कार्यों के लिये अग्रणी संस्था डीआरडीओ (Defence Research and Development Organisation- रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन) ने इस बार एक ऐसा कवच बनाया है जो जंग के समय भारतीय नौसेना के जहाजों को दुश्मन के मिसाइल से बचाएगा। दुश्मन देश के मिसाइल हमारे कवच वाले जहाज से टकराकर हवा में हीं फट जाएंगे।

DRDO द्वारा विकसित किए गए इस सिस्टम का नाम एडवांस्ड चाफ टेक्नोलॉजी (Advanced Chaff Technology) है। इसे जोधपुर लेबोरेटरी में विकसित किया गया है।

DRDO made advanced chaff

एडवांस्ड चाफ टेक्नोलॉजी के तीन वैरिएंट

दूरी के आधार पर एडवांस्ड चाफ टेक्नोलॉजी के तीन वैरिएंट बनाए गए हैं। भारतीय नौसेना द्वारा इन वैरिएंट का परीक्षण अरब सागर में किया गया है। सभी परीक्षण सफल रहें। इस टेक्नोलॉजी के तीन वैरिएंट हैं:-
• छोटी दूरी के चाफ रॉकेट,
• मध्यम दूरी के चाफ रॉकेट और
• लंबी दूरी के चाफ रॉकेट

कैसे काम करता है यह एडवांस्ड चाफ टेक्नोलॉजी

एडवांस्ड चाफ टेक्नोलॉजी के रॉकेट इलेक्ट्रॉनिक काउंटरमेजर टेक्नोलॉजी पर काम करते हैं। ये जहाज पर लगे मिसाइल ट्रैकर सिस्टम से कनेक्टेड होते हैं। रेडियो फ्रिक्वेंसी को ट्रैक कर या इंफ्रारेड टेक्नोलॉजी को सेंस कर दुश्मन देश के मिसाइल को नष्ट करते हैं। जब वे मिसाइल जहाज के नजदीक आते हैं, ये उन्हें हवा में हीं नष्ट कर देते हैं और दुश्मन के मिसाइलों से अपने जहाज़ को बचा लेते हैं।

आत्मनिर्भर भारत की यह एक बड़ी उपलब्धि है। डीआरडीओ टीम की सफलता पर रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने भी बधाई दी है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *