36.1 C
New Delhi
Friday, May 13, 2022
HomeBusinessअलमारी में भरे पड़े हैं पुराने ब्रांडेड कपड़े या बैग, यहां बेचकर...

अलमारी में भरे पड़े हैं पुराने ब्रांडेड कपड़े या बैग, यहां बेचकर कमाएं पैसे

आज के आधुनिक जमाने में जहाँ रोजाना लोग अपने जीवन में नई-नई चीजों का समावेश करते है। तो वहीं लोग पुरानी चीजों को अनदेखा करते हैं। इन्हीं चीजों को देखते हुए मुंबई में रहनेवाले नोहर नाथ ने अपने एक ऑनलाइन थ्रिफ्ट स्टोर की शुरुआत की। इस स्टोर के जरिए लोग अपने पुराने ब्रांडेड कपड़ो को आसानी से बेच सकते हैं और जरूरतमंद इन बेचे गए कपड़ो को कम दामों में खरीद भी सकते हैं। आइये जानते है इस ऑनलाइन स्टोर के बारे में।

नोहर नाथ ने बनाया ऑनलाइन स्टोर

मुम्बई के रहने वाले नोहर नाथ ने साल 2018 में Kiabza की शुरुआत की। यह एक ऑनलाइन थ्रिफ्ट स्टोर है। जहां पर आप ‘प्री-ओन्ड फैशन प्रॉडक्ट्स’ बेच सकते हैं और खरीद सकते हैं। नोहर के स्टोर के कपड़े और बैग्स भले ही सेकंड हैंड हैं, लेकिन इनकी क्वालिटी चेक के बाद ही इन्हें रिसेल किया जाता है।

पर्यावरण को भी बचा रहे नोहर

नोहर नाथ के इस अनूठे प्रयास से पर्यावरण को भी लाभ पहुँच पा रहा है। नए ब्रांडेड कपड़े और बैग्स बनाने में पानी का इस्तेमाल अधिक मात्रा में होता है। जहाँ इस चीज को लेकर काफी लोग जागरूक भी हो रहे हैं। उन्होंने शुरुआत में अपनी पढ़ाई को पूरा करने के बाद बैंक में काम किया। बाद में वह टेक्सटाइल से जुड़े। उनका टेक्सटाइल का व्यापार पैतृक ही था।

नोहर ने अनुभव को काम में लाया

नोहर नाथ ने अनुभव को अपने काम में लाया। उन्होंने अपने अनुभव के दम पर Kiabza.com लॉन्च किया। ताकि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर चल रहे ट्रेंड को वह अपने देश में भी बढ़ावा दे सकें। अब उनके इस प्रयास को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। उनके उस ऑनलाइन स्टोर से गुणवत्ता रहित उत्पादों का खरीदा जाता है। मौजूदा समय में लोग सेकंड हैंड चीजों पर जल्दी भरोसा नही करते हैं पर नोहर के इस स्टोर ने लोगों के विश्वास पर खड़ा उतरने का काम किया है।

Kiabza पर लोगों को भरोसा

नोहर नाथ के इस ऑनलाइन प्लेटफार्म को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। ग्राहकों के पिकअप रिक्वेस्ट के बाद, उनके घर से निशुल्क पिक-अप किया जाता है। डिलीवरी के लिए उन्होंने ऐसी कंपनियों से टाईअप किया है, जो सिर्फ महानगरों में नहीं, बल्कि छोटे शहरों में भी सक्रिय हैं। अगर कभी कोई कपड़ा क्वालिटी में फेल हो जाता है तो इसे सेलर को वापिस भेज दिया जाता है या उनकी सहमति से सामाजिक संगठनों को दान कर दिया जाता है।

खरीदने और बेचने का यह है प्रक्रिया

Kiabza के वेबसाइड पर कपड़ो को खरीदना और बेचना काफी आसान है। कपड़ो को बेचने के लिए आपको Kiabza की वेबसाइट पर जाकर ‘Sell’ पर क्लिक करना है। अब जो पेज आएगा, उस पर आपको ‘पिक-अप’ रिक्वेस्ट देना है। आपके द्वारा बेचे गए कपड़ों को Kiabza के स्टोर तक पहुंचाया जाता है। जहां क्वालिटी चेक होता है और सब कुछ सही होने पर Kiabza कपड़ों की कीमत तय करता है। जिसे ‘सेलर’ को बताया जाता है और उनकी सहमति के बाद कपड़ों को सैनिटाइज़ करके, इनकी फोटोग्राफी की जाती है। जिसके बाद, तस्वीरों को ऑनलाइन वेबसाइट पर अपलोड किया जाता है। जब आपके कपड़े सेल हो जाते हैं तो आपको तय कीमत के हिसाब से पैसे मिल जाते हैं। लोगों को Kiabza की सर्विस काफी पसंद आ रही है।

Kiabza के जरिए पानी का संरक्षण

नए कपड़ों के निर्माण में जहाँ कई लीटर पानी की खफत होती है वहीं Kiabza ने अभी तक 30 टन कार्बन फुटप्रिंट और 75 लाख लीटर पानी बचा चुका है। पर्यावरण के संरक्षण हेतु भी Kiabza प्रतिबद्ध है। इसलिए तो आज Kiabza ग्राहकों के बीच काफी प्रचलित हो चुका है।Kiabza को अब काफी लोग पसंद कर रहे हैं। इसकी गुणवत्ता लोगों को काफी जच रही है। आगामी समय में नोहर नाथ का सपना है कि इसके ऑफलाइन स्टोर को खोलकर लोगों तक इसका लाभ पहुँचा सकें।

आज नोहर नाथ के इस अनूठे प्रयास की सराहना सभी जगह हो रही है। नोहर नाथ आज सभी के लिए प्रेरणा स्वरूप हैं।

Sunidhi Kashyap
सुनिधि वर्तमान में St Xavier's College से बीसीए कर रहीं हैं। पढ़ाई के साथ-साथ सुनिधि अपने खूबसूरत कलम से दुनिया में बदलाव लाने की हसरत भी रखती हैं।
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments