‘इफ्तिखार’ बन हिजबुल से जुड़ने वाले इस मेजर पर बनने वाली है बायोपिक

हमारे देश में ऐसी कई फिल्में रिलीज हुई हैं, जो किसी प्लेयर, नेता अथवा देश में हुई किसी राष्ट्रीय घटनाओं पर आधारित रही हैं। वास्तविक घटनाओं पर बनने वाली बायोपिक मूवी से हमें कुछ अनसुने पहलुओं के बारे में जानकारी मिलती है।

कई मशहूर लोगों पर बायोपिक बनने के बाद अब एक और नई बायोपिक बनने जा रही है। यह बायोपिक भारतीय सेना के शहीद जवान अशोक चक्र से सम्मानित मेजर मोहित पर बनेगी।

मूवी का फर्स्ट लुक जारी

मेजर मोहित पर बनने वाली बायोपिक (Biopic) का फर्स्ट लुक 22 जनवरी को रिलीज कर दिया गया है। जारी पोस्टर में मेजर मोहित शर्मा को इफ्तिखार (Iftikhar) के रूप में दिखाया गया है।

एक्टर की औपचारिक घोषणा नहीं

हालांकि इस बायोपिक फिल्म में मेजर मोहित शर्मा (Major Mohit Shamra) के किरदार को कौन निभायेगा, इस बारे में अभी अधिकारिक तौर पर घोषणा नहीं हुई है। इस मूवी का निर्माण अप्लॉज एंटरटेनमेंट (Applause Entertainment) और दृश्यम फिल्म्स द्वारा किया जा रहा है, तथा इस बायोपिक मूवी का नाम ‘इफ्तिखार’ रखा गया है।

Biopic on Major Mohit Sharma

भारतीय सेना के जाबांज सैनिक मेजर मोहित शर्मा के जीवन पर एक नज़र

मोहित का जन्म 13 जनवरी 1978 को हरियाणा (Hariyana) के रोहतक में हुआ था। उन्होंने सेना में हिस्सा लेने के लिए इंजीनियरिंग छोड़ दिया था और वर्ष 1995 में सेना का हिस्सा बन गए थे। एनडीए की परीक्षा में सफलता हासिल करने के बाद मोहित ने वर्ष 1998 में भारतीय सैन्य अकादमी (Indian Military Academy) में प्रवेश लिया था। वहीं वर्ष 1999 में मोहित को लेफ्टिनेंट नियुक्त किया गया, उसके 3 वर्ष बाद मेजर मोहित का चयन ‘पैरा स्पेशल फोर्सेज’ (Para Special Forces) के लिये हो गया। उन्होंने वर्ष 2003 में एक प्रशिक्षित पैरा कमांडो बनकर भारतीय सेना को मजबूत बनाया था।

यह भी पढ़े :- मात्र 14 वर्ष की आयु में ही उठा सिर से पिता का साया, धोने पड़े बर्तन मगर नहीं खोया हौसला और हिम्मत से बनाई अपनी पहचान: इल्मा अफरोज़

दुश्मनों के घर में घुसकर उतारा मौत के घाट

मेजर मोहित ने अपने सैन्य सेवा के दौरान कई अवसर पर अपनी बहादुरी और शौर्य का परिचय दिया है, जिसमें से एक इफ्तिखार भट्ट (Iftikhar Bhatt) बनकर दुश्मनों को हमेशा के लिये मिटाना। मेजर मोहित शर्मा ने वर्ष 2004 में एक खुफिया ऑपरेशन के तहत हिजबुल मुजाहिद्दीन में इफ्तिखार भट्ट बनकर घुसपैठ करते हुए दो आतंकियों को मार गिराया था।

उन्होंने अपने खुफिया ऑपरेशन को दक्षिण कश्मीर से 50 किलोमीटर दूर शोपियां में अंजाम दिया था। इस ऑपरेशन को सफल बनाने के लिये पहले उन्होंने हिजबुल आतंकियों का भरोसा जीता, उसके बाद उनके ही घर में मेजर ने उन्हें हमेशा के लिये इस दुनिया से मिटा दिया।

Biopic on Major Mohit Sharma

सैन्य ऑपरेशन में हमेशा के लिये देश पर मर मिटे

मेजर मोहित को उनकी वीरता के लिये काफी प्रशंशा मिली क्योंकि उन्होंने अपनी जान की बाजी लगाकर इस मिशन को पूरा किया था। इसे पूरा करने के 5 वर्ष बाद कुपवाड़ा के एक सैन्य ऑपरेशन के दौरान मोहित सदा के लिये वीरगति को प्राप्त हो गये।

मरणोपरांत मेजर मोहित अशोक चक्र से सम्मानित

मरणोपरांत उन्हें अशोक चक्र से सम्मानित किया गया था। अब उनके सम्मान में ‘इफ्तिखार’ मूवी का निर्माण किया जा रहा है, जिसे हर भारतीय को देखनी चाहिए। यह फिल्म अगले वर्ष 15 अगस्त को रिलीज किया जा सकती है।

हमें अपने देश के वीर जवानों पर गर्व है, जो अपनी जान को देश की सुरक्षा के लिये देश पर कुर्बान कर देते हैं। Daily Dose मेजर मोहित शर्मा के साथ ही सभी वीर जवानों को शत-शत नमन करता है।

News Desk

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *