31.1 C
New Delhi
Wednesday, August 3, 2022
HomeFactअग्निवीरों को नौकरी में क्या-क्या मिलेगा?

अग्निवीरों को नौकरी में क्या-क्या मिलेगा?

2019,15 अगस्तको जबमाननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने लाल किले की प्राचीर से ऐलान किया कि भारत में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ का पद बनाया जाएगा, इसे आज़ादी के बाद सबसे बड़े सैनिक सुधारों में से एक माना गया था. अब सरकार ने एक बार फिर दूसरे बड़े सुधार का ऐलान कर दिया है, जिससे न सिर्फ तीनों सेनाओं में,बल्कि देश के लाखों युवाओं का भविष्य भी जुड़ा हुआ है. आज माननीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह की मौजूदगी में तीनों सेनाओं के अध्यक्षों ने अग्निपथ योजना का ऐलान कर दिया.भारत में सेनाओं में सीधी भर्ती इसी तरह से होगी.और चार साल के लिए अग्निवीर तीनों सेनाओं का हिस्सा बनेंगे. औरचार साल के आखिर में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले 25 प्रतिशत अग्निवीरों को सेनाओं में पक्की नौकरी मिलेगी. सेना का कहना है कि इस योजना से उसकी दक्षता में इज़ाफा होगा और वो आने वाले कल की चुनौतियों के लिए तैयारी कर पाएगी.

अग्निपथ योजना के खिलाफ जहां एक तरफ विरोध हो रहा है, सियासत गरमाई हुई है, तो वहीं दूसरी तरफ तीनों सेनाओं में अग्निवीरों की भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी कर दिया गया है. और कई बातें स्पष्ट कर दी गई हैं. यजना के तहत होने वाली भर्ती में अग्निवीरों को कितनी सैलरी मिलेगी, चयन प्रक्रिया कैसे होगी एवं रिटायरमेंट के बाद उन्हें क्या फायदा मिलेगा इन सभी बातों का जिक्र ड्राफ्ट नोटिफिकेशन में किया गया है.

1. भर्ती 

इस योजना के लिए17 से 21 साल के युवा पात्र होंगे. भर्ती साल में दो बार रैलियों के ज़रिए होगी. भर्ती के लिए तीनों सेनाओं द्वारा तय मानकों में कोई छुट नहीं दी जाएगी. जैसे सेना की भर्ती पहले होती थी, वैसे ही अब भी होगी. शारीरिक क्षमता और मेडिकल फिटनेस साबित करने के बाद ही अग्निवीर रिक्रूट को ट्रेनिंग के लिए भेजा जाएगा. तीनों सेनाएं ट्रेनिंग का तरीका बेहतर करने की कोशिश कर रही हैं. प्रयासहै कि ट्रेनिंग की अवधि को 10 महीने की जगह 6 महीने किया जाए. ट्रेनिंग में सेना की बेसिक ट्रेनिंग जैसे हथियार चलाना, सरवाइवल टैक्टिक के साथ-साथ तकनीकी कौशल और आईटी स्किल्स जैसी नई चीज़ों को भी जगह देने की कोशिश होगी.तीनों सेनाएं ट्रेनिंगको अलग-अलग तरीके से करेंगी क्योंकि उनकी ज़रूरतें अलग हैं. लेकिन लक्ष्य एक ही है – ट्रेनिंग समय को कम करना और रिक्रूट को पहले से बेहतर ट्रेनिंग देना. 

2. सेवा 

ट्रेनिंग करने के बाद रिक्रूट सेना की टुकड़ी में तैनात किया जाएगा, उसके बाद इन्हें अग्निवीर कहा जाएगा. ये एक अलग रैंक होगी और अग्निवीरों का एक अलग चिह्न होगा, जो उनकी वर्दी पर होगा.
अग्निवीर तीनों सेनाओं के हर अंग में शामिल किए जाएंगे. कॉम्बैट आर्म्स में भी. जैसे थल सेना के संदर्भ में अग्निवीर इंफ्रेंट्री, आर्मर्ड एवं आर्टिलरी तीनों में शामिल होंगे. कॉम्बैट आर्म्स सेना के वो अंग होते हैं, जो सीधे लड़ाई में उतरते है और देश की रक्षा करते हैं.

अग्निवीर सेना के अवॉर्ड्स और ऑनर्स के लिए भी पात्र होंगे. भारतीयसेना में कोई अवॉर्ड जीता नहीं जाता है, आपको आपकी बहादुरी के लिए अलंकृत या डेकोरेट किया जाता है. अगर कोई अग्निवीर विशिष्ट सेवा या बहादुरी दिखाता हैतो उसे भी बाकी सैनिकों की तरह अवार्ड से नवाजा जाएगा.

3. तनख्वाह 

  • पहले वर्ष की सैलरी

भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना में अग्निवीरों के पहले बैच में चयनित उम्मीदवारों के लिए अग्निवीर वेतन पैकेज रुपये होगा। 30000 प्रति माह वेतन पैकेज जिसमें से रु। अग्निवीर कॉर्पस फंड (सेवा निधि पैकेज) में योगदान के रूप में 9000 की कटौती की जाएगी। सैनिक ग्रेच्युटी के हकदार नहीं होंगे।

AGNIVEER SALARY FOR 1ST YEAR
PARTICULARSAMOUNT
Customised Package (Monthly)Rs. 30000 per month 
In-Hand Salary (70%)Rs. 21000 per month 
Contribution to Agniveer Corpus Fund (30%)Rs. 9000 per month 
Contribution to corpus fund by GoI (30%)Rs. 9000 per month 
  • दूसरे वर्ष की सैलरी
    भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना में अपनी सेवा के दूसरे वर्ष में अग्निवीरों के लिए अग्निवीर वेतन पैकेज रु। 33000 प्रति माह वेतन पैकेज जिसमें से रु। 9900 की कटौती सेवा निधि पैकेज के रूप में की जाएगी।
AGNIVEER SALARY FOR 2ND YEAR
PARTICULARSAMOUNT
Customised Package (Monthly)Rs. 33000 per month 
In-Hand Salary (70%)Rs. 23100 per month 
Contribution to Agniveer Corpus Fund (30%)Rs. 9900 per month 
Contribution to corpus fund by GoI (30%)Rs. 9900 per month 
  • तीसरे वर्ष की सैलरी
    तीसरे वर्ष अग्निवीरों की कुल तनख्वाह (सैलरी) 40 हजार रुपये प्रति माह होगी. इसमें 12 हजार रुपये का डिडक्शन सेवा निधि फंड के लिए किया जाएगा. मतलब ये कि अग्निवीरों की इन हैंड सैलरी 28 हजार रुपये प्रति माह होगी.
AGNIVEER SALARY FOR 3RD YEAR
PARTICULARSAMOUNT
Customised Package (Monthly)Rs. 36500 per month 
In-Hand Salary (70%)Rs. 25580 per month 
Contribution to Agniveer Corpus Fund (30%)Rs. 10950 per month 
Contribution to corpus fund by GoI (30%)Rs. 10950 per month 
  • चौथे वर्ष की सैलरी
    भारतीय सेना, भारतीय वायु सेना और भारतीय नौसेना में अपनी सेवा के अंतिम वर्ष में अग्निवीरों के लिए अग्निवीर वेतन पैकेज रु। 40000 प्रति माह वेतन पैकेज जिसमें से रु। सेवा निधि पैकेज के रूप में 12000 की कटौती की जाएगी।
AGNIVEER SALARY FOR 4TH YEAR
PARTICULARSAMOUNT
Customised Package (Monthly)Rs. 40000 per month 
In-Hand Salary (70%)Rs. 28000 per month 
Contribution to Agniveer Corpus Fund (30%)Rs. 12000 per month 
Contribution to corpus fund by GoI (30%)Rs. 12000 per month 

4. स्थायी सेवा 

तीनों सेनाओं के अग्निवीर: आर्मी एक्ट, नेवी एक्ट और एयरफोर्स एक्ट के तहत साढ़े तीन साल ड्यूटी करेंगे. इसके बाद सभी के पास स्थायी सेवा में न्युक्त होने का मौका होगा. लेकिन अंतिम चयन होगा केवल25 प्रतिशत का.

रक्षा मंत्रालय का कहना है कि इसके लिए सेंट्रलाइज़्ड सिस्टम बनाया जाएगाजिसमें कीपारदर्शिता होगी. दो चीजों पर ध्यान दिया जाएगा – मेरिट एवं सेवा के दौरान प्रदर्शन.

एक बार स्थायी काडर में चयन के बाद अग्निवीर को सैनिक या समकक्ष पद मिलेगा. जहाँ से उन्हें स्थायी सेवा के भत्ते और तनख्वाह मिलने लगेंगे. सैनिक 15 साल तक सेवा में रह पाएँगे और इस दौरान वो पदोन्नति और सेवा के बाद पेंशन और कैंटीन सेवा आदि के पात्र होंगे. लेकिन एक बात ध्यान देने वाली है. स्थायी सेवा में जाने वालों को अग्निवीर रहते 4 साल की सेवा का लाभ नहीं मिलेगा उन्हें एक बार फिर से स्थायी काडर में अपनी यात्रा शुरू से करनी होगी.

5. स्थायी काडर में चयन न होने पर क्या होगा?

75 प्रतिशत अग्निवीर वापस लौटेंगे. इनके पास सेवा निधि का पैकेज होगा. अग्निवीर स्किल कासर्टिफिकेट होगा. नई शिक्षा नीति के तहत इन्हें क्रेडिट पॉइंट्स भी दिए जाएंगे जो ये अगली नौकरी या फिर आगे की पढ़ाई के लिए प्रयोग कर पाएंगे. और सेवा के दौरान उन्होंने जो स्किल इकट्ठा की, वो उन्हें हर तरह की नौकरियों के लिए बेहतर पात्र बना देगी. सरकार का ज़ोर उद्यमी तैयार करने पर है.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments